Top
Home > बिजनेस > पर्सनल लोन का आवेदन नहीं होगा रिजेक्‍ट, करना होगा यह काम

पर्सनल लोन का आवेदन नहीं होगा रिजेक्‍ट, करना होगा यह काम

पर्सनल लोन का आवेदन नहीं होगा रिजेक्‍ट, करना होगा यह काम

जब लोगों को पैसों की जरूरत...Editor

जब लोगों को पैसों की जरूरत होती है तो वह पर्सनल लोन के लिए अप्लाई करते हैं। वहीं कोई भी कर्जदाता आसानी से इसे अप्रूव नहीं करता है। कर्जदाता कर्ज देने से पहले बहुत सी बातों और नियमों पर ध्यान देता है तो उसके बाद कर्ज देने की प्रक्रिया शुरू की जाती है। कर्ज देने से पहले आवेदक का क्रेडिट स्कोर, मंथली इनकम, एफओआईआर, कर्मचारी की प्रोफाइल, जॉब स्टेब्लिटी और लोकेशन आदि चेक किया जाता है। आज हम आपको उन बातों के बारे में बता रहे हैं, जिनसे आप पर्सनल लोन के एप्लिकेशन को रिजेक्ट होने से रोक सकते हैं।

1. मंथली इनकम

अगर आपके पास पर्याप्त बैंक बैलेंस नहीं है तो कर्जदाता आपकी लोन एप्लिकेशन रिजेक्ट कर सकता है। अधिकतर कर्जदाता न्यूनतम नेट मंथली इनकम को देखने के बाद आवेदक की लोन एप्लिकेशन विचार करते हैं और उसके बाद लोन एप्लिकेशन को मंजूर करते हैं।

2. लोन ईएमआई और क्रेडिट कार्ड रीपेमेंट का सही से भुगतान

पर्सनल लोन के लिए आवेदन करने से पहले यह ध्यान दें कि आपने बीते समय में जो कर्ज लिया है उसका भुगतान ठीक प्रकार से किया है या नहीं। आवेदन का रिकॉर्ड ट्रैक किया जाता है ताकि यह देखा जाए कि क्रेडिट स्कोर ठीक है या नहीं है।

3. क्रेडिट कार्ड से न करें मैक्सिमम सीमा तक खर्च

क्रेडिट कार्ड की लिमिट का 30 फीसद तक हमेशा बचा कर रखना चाहिए। इससे यह पता चलता है कि आवेदक ठीक प्रकार से लोन लेकर वापस चुका सकता है या नहीं। इसलिए कभी भी क्रेडिट कार्ड की अधिकतम सीमा तक खर्च न करें।

क्या न करें

1. लोन एप्लिकेशन में कभी भी किसी प्रकार की गलतियां न करें। बैंक किसी थर्ड पार्टी के जरिए एप्लिकेशन को वेरिफाई करेगी, जिससे यह पता चले कि कुछ गलत नहीं लिखा है और कुछ तथ्य छिपाए नहीं गए हैं।

2. कर्जदाता ऐसे लोगों को पर्सनल लोन देते हैं, जिनकी जॉब स्टेबल होती है। जो लोग बार-बार जॉब स्विच करते हैं ऐसे लोगों को लोन आसानी से नहीं मिल पाता है इसलिए करियर के दौरान बार-बार जॉब स्विच से बचना चाहिए क्योंकि इससे कर्जदाताओं पर निगेटिव इफेक्ट पड़ सकता है।

3. एक साथ कई लोन लेने की वजह से लोन एप्लीकेशन रिजेक्ट होने के चांस पैदा हो जाते हैं। कई बार लोगों को पैसों की जरूरत होती है, जिसके चलते वह अलग-अलग जगहों से लोन ले लेते हैं और इसके चक्कर में कर्ज के जाल में फंस जाते हैं और जिससे क्रेडिट स्कोर खराब हो जाता है।

Share it
Top