Top
Home > बिजनेस > शेयर बाजार में कोहराम, निवेशकों के 3.5 लाख करोड़ रुपये स्वाहा-दो दिनों में 1300 अंक टूटा सेंसेक्स

शेयर बाजार में कोहराम, निवेशकों के 3.5 लाख करोड़ रुपये स्वाहा-दो दिनों में 1300 अंक टूटा सेंसेक्स

शेयर बाजार में कोहराम, निवेशकों के 3.5 लाख करोड़ रुपये स्वाहा-दो दिनों में 1300 अंक टूटा सेंसेक्स

गुरुवार का दिन शेयर बाजार के...Editor

गुरुवार का दिन शेयर बाजार के लिए तबाही भरा रहा। शुरुआती कारोबार में बंबई स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स 600 अंकों से अधिक जबकि निफ्टी 150 अंकों तक लुढ़क गया। इसके बाद बाजार में निचले स्तर से कोई रिकवरी नहीं हुई बल्कि उल्टे बाजार पर बिकवाली हावी हो गई और सेंसेक्स देखते ही देखते 800 अंकों से अथिक अंक तक टूट गया।

गुरुवार को सेंसेक्स 2.24 फीसद की गिरावट के साथ 806.47 अंक टूटकर 35,169.16 पर बंद हुआ। वहीं नैशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 10,600 के स्तर से नीचे फिसलकर बंद हुआ। निफ्टी 2.39 फीसद की गिरावट के साथ 259 अंक टूटकर 10,599.25 पर बंद हुआ।

बुधवार को करीब 550 अंकों की गिरावट के साथ बंद हुआ था। इस भारी गिरावट के बाद पिछले दो कारोबारी सत्रों में सेंसेक्स करीब 1300 अंक से अधिक तक टूट चुका है और वह जनवरी 2018 के स्तर के आस-पास पहुंच चुका है।

विशेषज्ञों के मुताबिक भारत समेत अन्य एशियाई बाजारों में कमजोरी देखी जा रही है क्योंकि अमेरिकी अर्थव्यवस्था में सुधार की स्थिति के बाद निवेशकों के उभरती अर्थव्यवस्था से पैसा निकालकर अमेरिकी बाजार में निवेश करने की आशंका सता रही है।

निवेशकों के 3.5 लाख करोड़ रुपये डूबे बाजार में आई इस गिरावट से निवेशकों को करीब 3.5 लाख करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है। गुरुवार को बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 14376383.74 लाख करोड़ रुपये से कम होकर 14031572.57 करोड़ रुपये हो गया।

इससे पहले बुधवार को बाजार में मचे कोहराम से निवेशकों को करीब 1.79 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है। सोमवार को बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 145.43 लाख करोड़ रुपये था, जो बुधवार को कम होकर 143.64 लाख करोड़ रुपये हो गया।

अगर दोनों दिनों के नुकसान को मिलाकर देखा जाए तो निवेशकों को कुल रुपये का नुकसान हुआ वहीं सेंसेक्स में अंकों की गिरावट आई।

रुपये से बिगड़ी बाजार की चाल भारतीय शेयर बाजार में आई बड़ी गिरावट की वजह रुपये का कमजोर होना है। गुरुवार को रुपया डॉलर के मुकाबले डॉलर की मजबूत मांग के कारण गुरुवार को रुपया और कमजोर हुआ है।

अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया गुरुवार सुबह 73.77 के निचले स्तर तक लुढ़क गया। अब एक डॉलर की कीमत 73.77 रुपये हो गई है, जो अब तक का निचला स्तर है। इंटर बैंक फॉरेन एक्सचेंज मार्केट में रुपया 73.67 के स्तर पर खुला जबकि बीते कारोबार में रुपया 73.34 पर बंद हुआ था।

रुपये में आ रही गिरावट से देश का चालू खाता बढ़ने के साथ ही विदेशी पूंजी के बाहर निकलने की आशंका जोर पकड़ रही है।

आरबीआई की बैठक से पहले बाजार में भगदड़ गौरतलब है कि शेयर बाजार में यह तबाही तब मची, जब ब्याज दरों को लेकर भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की तीन दिवसीय बैठक शुरू हो चुकी है। माना जा रहा है कि कच्चे तेल की बढ़ती कीमत और रुपये में आई कमजोरी की वजह से महंगाई बढ़ सकती है, जिसे काबू में करने के लिए आरबीआई ब्याज दरों में 25 आधार अंकों का इजाफा कर सकता है।

Tags:    
Share it
Top