Home > बिजनेस > इन 5 तरीकों से करें खरे सोने की पहचान, ज्वेलर्स के झांसे में आने से बचें

इन 5 तरीकों से करें खरे सोने की पहचान, ज्वेलर्स के झांसे में आने से बचें

इन 5 तरीकों से करें खरे सोने की पहचान, ज्वेलर्स के झांसे में आने से बचें

अक्षय तृतीया (Akshaya...Editor

अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya 2019) होने की वजह से सोने के आभूषण का जबरदस्त डिमांड है. ऐसे में खरीदारी करते वक्त ग्राहकों को कुछ बातों का हमेशा ध्यान रखना चाहिए. ग्राहकों को जागरूक होना जरूरी है. उन्हें मालूम होना चाहिए कि अलग-अलग शुद्धता वाले सोने की कीमत अलग-अलग होती है. साथ ही, आभूषण बनाने के लिए सोने की शुद्धता कितनी होनी चाहिए. ग्राहकों को सबकुछ मालूम होगा तो वे सुनार के झांसे में नहीं आएंगे. इस आर्टिकल में आपको बताने जा रहे हैं, कैसे असली और नकली सोने की पहचान करनी है.

अक्षय तृतीया 2019: पैसे नहीं है तब भी खरीद सकते हैं सोना, ये हैं EMI ऑप्शन

1. जब आप सोना खरीदने जा रहे हैं तो साथ में चुंबक लेकर जाएं. खरीदने से पहले ज्वैलरी पर चुंबक सटाएं. अगर चिपक जाता है तो यह नकली है, नहीं चिपकता है तो असली है.

2. ज्वैलरी को सिरामिक थाली पर घिसें. अगर थाली पर काला निशान पड़ता है तो यह नकली है. अगर असली सोना होगा तो हल्के सुनहरे रंग का निशान पड़ेगा.

3. सोना पानी में तैरता नहीं है. इसलिए ज्वैलरी को पानी में डुबोएं. अगर असली होगा तो सतह पकड़ लेगा.

4. सोना बहुत सॉफ्ट होता है. इसे अपनी दांतों से कुछ देर के लिए दबाकर रखें. अगर यह दब जाएगा तो शुद्ध है. अगर मिलावटी होगा तो यह नहीं दबेगा.

5. सोना पसीना के साथ किसी तरह का रिएक्शन नहीं करता है. अगर पसीन से लगने पर यह विचित्र बदबू नहीं करता है तो असली है. दूसरे धातु, मसलन सिक्का पसीना से चिपकने पर अजीब सा बदबू करता है.

अक्षय तृतीया पर 30 फीसदी सस्ता सोना, SBI क्रेडिट कार्ड पर ₹2500 एक्स्ट्रा बेनिफिट

सोने की शुद्धता कैरेट से होती है. 24 कैरेट गोल्ड सबसे ज्यादा 99.90 फीसदी तक शुद्ध होता है. 22 कैरेट गोल्ड 92 फीसदी शुद्ध होता है. शुद्ध सोने से आभूषण नहीं बन पाता है, क्योंकि यह बहुत लचीला होता है. इसलिए, ज्वेलर्स 14 कैरेट, 18 कैरेट या 22 कैरेट गोल्ड का इस्तेमाल करते हैं.

Share it
Top