Top
Home > बिजनेस > Flipkart बिकी तो पूरी तरह बदल जाएगा ई-रिटेल मार्केट

Flipkart बिकी तो पूरी तरह बदल जाएगा ई-रिटेल मार्केट

Flipkart बिकी तो पूरी तरह बदल जाएगा ई-रिटेल मार्केट

फ्लिपकार्ट (Flipkart) बोर्ड की ...Editor

फ्लिपकार्ट (Flipkart) बोर्ड की तरफ से 75 प्रतिशत हिस्सेदारी वॉलमार्ट (Walmart) को बेचने की सहमति देने की चर्चा जोरों से चल रही है. ब्लूमबर्ग की तरफ से दावा किया गया है कि फ्लिपकार्ट ने 75 प्रतिशत शेयर को 15 बिलियन डॉलर (करीब 1 लाख करोड़) में वॉलमार्ट को बेचने की मंजूरी दे दी है. फ्लिपकार्ट की डील पर अगले 10 दिन में मुहर लग सकती है.

बड़े बदलाव संभव
फ्लिपकार्ट और वॉलमार्ट की डील से एक तरफ जहां फ्लिपकार्ट की मौजूदा वेंडर में चिंता का माहौल है. दूसरी तरफ यह डील ग्राहकों के लिए फायदेमंद साबित हो सकती है. जानकारों का मानना है कि वॉलमार्ट डील के बाद ई-कॉमर्स मार्केट में जबरदस्त तेजी आएगी. उम्मीद की जा रही है कि इस डील के बाद ई-कॉमर्स मार्केट में बड़े बदलाव आ सकते हैं. आगे पढ़िए आपके लिए यह डील किस तरह फायदेमंद हो सकती है.
कम कीमत
अगर वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट डील फाइनल होती है तो इसका ग्राहकों को सबसे बड़ा फायदा कीमतों को लेकर हो सकता है. भारत में रहने वाले मध्यम वर्गीय परिवारों को फ्लिपकार्ट-वॉलमार्ट समझौते से सस्ती कीमत पर सामान मिलने की संभावना है. वॉलमार्ट का कारोबार पूरी दुनिया में फैला है और उसकी तरफ से दुनियाभर में सस्ती कीमत पर सामन मुहैया कराया जाता है. वॉलमार्ट के एक अधिकारी ने साक्षात्कार के दौरान कहा था कि कंपनी एवरी डे लो प्राइसिंग की स्ट्रेटजी पर काम करती है.
जल्द और सस्ती डिलीवरी
रिटेल कंपनी वॉलमार्ट अमेरिका में पिछले कई सालों से कारोबार कर रही है. हालांकि भारत में ई-कॉमर्स मार्केट अभी शुरुआती अवस्था में है. करीब 135 करोड़ की जनसंख्या वाले देश में महज 6 करोड़ लोग ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं. एक सर्वे बताता है कि ये ग्राहक केवल डिस्काउंट के लिए ही नहीं, बल्कि अच्छे प्रोडक्ट और जल्दी डिलीवरी के कारण ऑनलाइन शॉपिंग में विश्वास करते हैं. वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट के साथ आने पर सस्ती और जल्दी डिलीवरी को बढ़ावा मिलेगा.
मजबूत ग्रासरी मार्केट
फ्लिपकार्ट ने पिछले कुछ सालों में तेजी से ग्रासरी मार्केट में कदम रखा है. कुछ महीने पहले ही फ्लिपकार्ट (flipkart) ने ग्रासरी मार्केट को मजबूती देने के लिएअपनी लॉजिस्टिक आर्म ई-कार्ट में 460 मिलियन डॉलर का बड़ा निवेश किया है. इस मामले में वॉलमार्ट अमेरिका में पहले से ही काफी मजबूत है. उम्मीद है कि इसी के तहत वॉलमार्ट इंडिया में भी काम करेगी. इससे लोगों को घरेलू जरूरत का सामान सस्ती कीमत पर मिल सकता है.

Tags:    
Share it
Top