Top
Home > मुख्य समाचार > फेसबुक के बाद अब NAMO APP पर सवाल, राहुल का हमला-पीएमओ का पलटवार

फेसबुक के बाद अब NAMO APP पर सवाल, राहुल का हमला-पीएमओ का पलटवार

फेसबुक के बाद अब NAMO APP पर सवाल, राहुल का हमला-पीएमओ का पलटवार

फेसबुक डेटा लीक को लेकर...Editor

फेसबुक डेटा लीक को लेकर कांग्रेस भारतीय जनता पार्टी और मोदी सरकार को घेरने का कोई मौका नहीं गंवा रही है. पार्टी प्रवक्ताओं के साथ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी खुद इस मसले पर मौजूदा सरकार के खिलाफ मोर्चा संभाले हुए हैं. फेसबुक के बाद अब इस मामले की आंच सीधे तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंचती दिखाई दे रही है.


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज सुबह एक ट्वीट किया है. जिसमें उन्होंने फ्रांस के एक हैकर के ट्वीट पर आधारित खबर को शेयर किया है. एलियट एल्डर्सन नाम के इस हैकर ने अपने ट्वीट में दावा किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऐप डाउनलोड करने वाले लोगों की व्यक्तिगत जानकारी किसी तीसरी पार्टी के साथ साझा की गई हैं.

पीएम मोदी पर राहुल का तंज

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में इस खुलासे को आधार बनाते हुए पीएम नरेंद्र मोदी पर तंज कसा है. राहुल ने लिखा है, 'हाय, मेरा नाम नरेंद्र मोदी है. मैं भारत का प्रधानमंत्री हूं. जब आप मेरे आधिकारिक ऐप पर लॉग इन करते हैं तो मैं आपकी सारी जानकारी अमेरिकी कंपनियों के अपने दोस्तों को दे देता हूं.'

पीएमओ का पलटवार
राहुल गांधी के इस आरोप पर प्रधानमंत्री कार्यालय ने पलटवार किया है. पीएमओ की तरफ से कहा गया है कि राहुल गांधी और कांग्रेस को टेक्नोलॉजी की जानकारी नहीं है.

दरअसल, हाल में ये खुलासा हुआ है कि फेसबुक ने अपने यूजर्स की जानकारी कैंब्रिज एनालिटिका नाम की कंपनी को दी. जिसका भारत में राजनीतिक दलों ने इस्तेमाल किया. हालांकि, अब कांग्रेस और बीजेपी एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं. कैंब्रिज एनालिटिका पर 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में फेसबुक के करीब पांच करोड़ उपयोगकर्ताओं की जानकारियों के दुरुपयोग का भी आरोप है.

केंद्र सरकार ने 23 मार्च को इस संबंध में कैंब्रिज एनालिटिका को नोटिस भी जारी किया है. सरकार ने कैंब्रिज एनालिटिका से पूछा है कि क्या वह भारतीयों के डेटा दुरुपयोग और उनके मतदान करने के तरीके को प्रभावित करने में शामिल थी. कंपनी से 31 मार्च तक जवाब मांगा गया है.


Tags:    
Share it
Top