Top
Home > मुख्य समाचार > थम गई "बाबुल मोरा नैहर छूटा जाए.." गाने वाली 'अप्पा जी' की आवाज

थम गई "बाबुल मोरा नैहर छूटा जाए.." गाने वाली 'अप्पा जी' की आवाज

थम गई बाबुल मोरा नैहर छूटा जाए.. गाने वाली अप्पा जी की आवाज

Publickhabar.com...Public Khabar

Publickhabar.com Bureau


वाराणसी. ठुमरी को नई ऊंचाइयों पर ले जाने वाली गिरिजा देवी 'अप्पा जी' का निधन हो गया है. अप्पा जी ने कोलकाता के बीएम बिड़ला अस्पताल में मंगलवार की देर रात अंतिम सांस ली। अप्पा जी का निधन 88 वर्ष की आयु में हुआ. वे पिछले कुछ दिनों से वे बीमार चल रही थीं. मंगलवार की सुबह ही उन्हें दिल का दौरा पड़ने के कारण अस्पताल में भर्ती किया गया था.


अप्पा जी बनारस घराने की शान मानी जाती थीं. शास्त्रीय, उप-शास्त्रीय और ठुमरी गायन को परिष्कृत करने और इसे लोकप्रिय बनाने में अप्पा का बहुत बड़ा योगदान था.

1989 में गिरिजा देवी को भारत सरकार की तरफ से कला के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए पद्म भूषण से भी सम्मानित किया गया था. गिरिजा देवी को 2016 में पद्मविभूषण से सम्मानित किया गया था.

Tags:    
Share it
Top