Top
Home > ज़रा हटके > विश्व के सबसे खतरनाक जो अपने मालिक की जान...

विश्व के सबसे खतरनाक जो अपने मालिक की जान...

विश्व के सबसे खतरनाक जो अपने मालिक की जान...

पालतू था पक्षी- फ्लोरिडा में...Editor

पालतू था पक्षी- फ्लोरिडा में एक 75 वर्षीय व्यक्ति की मौत अपने घर पर पले बड़े उड़ने में असमर्थ पक्षी के कारण हो गई। घटना स्थल पर आयी पुलिस ने उस आदमी को बुरी तरह से ज़ख्मी पाया, जिसे पैरामेडिक्स द्वारा तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां बाद में उसकी चोटों के चलते मौत हो गई। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जब शुक्रवार को उन्हें मार्विन हाजोस नाम के बताये जा रहे व्यक्ति के फार्म हाउस से बुलावा आया तो वे तुरंत वहां पहुंचे। वहां पहुंचने पर उन्होंने देखा की हाजोस के घर में कैसोवरी नाम का विशालकाय पक्षी मौजूद था। कैसोवरीज एमुस की तरह का पक्षी होता है जो उड़ नहीं सकता और दुनिया में सबसे बड़ी पक्षी प्रजातियों में से एक है। इनका वजन 60 किग्रा तक और ऊंचाई 6 फीट तक हो सकती है। विश्व का सबसे खतरनाक पक्षी- कैसोवरी का रंग गहरा नीला होता है जो बहुत खूबसूरत लगता है। इसके सिर पर हड्डियों से बनी एक टोपीनुमा जैसी होती है और पूरा शरीर बालों से ढका रहता है, जो पंख की तरह लगते हैं, लेकिन ये उड़ नहीं सकते। मादा कैसोवरी साल में एक बार तीन से छह अंडे तक देती है जिन्हे सेने का काम नर कैसोवरी करते हैं। इन अंडों का आकार 13 सेंटीमीटर तक होता है। इसके चूजे हल्के कत्थई रंग के होते हैं। ये विश्व का सबसे खतरनाक पक्षी माना जाता है। सैन डिएगो चिड़ियाघर के अनुसार कैसोवरी संभावित खतरे को भांप कर अपने पैरों में अंदर की ओर मौजूद छुरे जैसे पंजे की मदद से आदमी का पेट चीर सकता है। कैसे हुआ हादसा- इंडिपेंडेंट और टेलिग्राफ की रिपोर्ट के अनुसार हमला करने वाले पक्षी के पंजे करीब चार इंच के खंजर के जैसे थे। पुलिस का अनुमान है कि हाजोस किसी वजह से अपने घर में मौजूद इस पक्षी के सामने गिर पड़े होंगे और उसी समय उसने अपने पैने पंजो से हमला कर दिया होगा। मार्विन अपने फार्म पर अन्य विदेशी पक्षियों के साथ कैसोवरी भी पालते हैं। हादसे के समय वे पक्षियों को ब्रीडिंग के लिए ले जा रहे थे। पुलिस घटना की जांच कर रही है, लेकिन शुरुआती जानकारी से यही लगता है कि यह एक दुखद दुर्घटना थी। उनकी पार्टनर गेन्सविले का कहना है कि सबसे दुख की बात येहै कि मार्विन वही काम कर रहे थे जिससे वह प्यार करते थे। हांलाकि कैसोवरी मूल रूप से नीदरलैंड के रहने वाले नहीं हैं पर उन्हें ऑस्ट्रेलिया और न्यू गिनी से ला कर उनका प्रजनन किया जाता है।

Share it
Top