Home > ज़रा हटके > कमेंट्री शुरू हुई 'इदानीं यष्टिक्रीड़ा आरक्यते' धोती-कुर्ते में उतर गए बैट्समैन और बॉलर

कमेंट्री शुरू हुई 'इदानीं यष्टिक्रीड़ा आरक्यते' धोती-कुर्ते में उतर गए बैट्समैन और बॉलर

कमेंट्री शुरू हुई इदानीं यष्टिक्रीड़ा आरक्यते धोती-कुर्ते में उतर गए बैट्समैन और बॉलर

वाराणसी. सस्वर मंत्रोच्चार और ...Public Khabar

वाराणसी. सस्वर मंत्रोच्चार और कर्मकांड को छोड़ चौके, छक्के लगाते बटुक. क्रिकेट कंमेट्री भी ऐसी जो हिंदी अंग्रेजी में नहीं बल्कि संस्कृत में होती नजर आई. यह नजारा दिखा शुक्रवार को संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के मैदान में जहां धोती-कुर्ता, टीका-त्रिपुंड के साथ क्रिकेट खेलने उतरे.



संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के मैदान में एक अनोखा क्रिकेट मैच हुआ. इस मैच की खास बात यह रही क्रिकेट का खेल भले ही विदेशी हो, लेकिन क्रिकेटर्स की वेश-भूषा पूरी तरह भारतीय थी.




शुक्रवार को शास्त्रार्थ महाविद्यालय के तत्वावधान में चार संस्कृत महाविद्यालयों की टीमों के बीच फ्रेंडली क्रिकेट मैच का आयोजन किया गया. इस मैच में शामिल होने वाली टीमे रहीं शास्त्रार्थ महाविद्यालय, काशी विद्या मंदिर संस्कृत डिग्री कालेज, इंटरनेशनल चंद्रमौली चैरिटेबल ट्रस्ट और रणवीर संस्कृत कालेज. इन की टीमों में संस्कृत पढने वाले छात्र पूरी तरह से भारतीय गणवेश धोती-कुर्ते में क्रिकेट खेलने मैदान में उतरे. ख़ास बात यह रही कि खिलाड़ियों ने अपने मस्तक पर त्रिपुंड-तिलक भी लगा रखा था. यहां तक कि मैच के एम्पायर भी धोती कुर्ते में ही थे.



पूरी तरह भारतीय माहौल का हाल यह रहा कि मैच की कमेंट्री कर रहे कमेंटेटर भी संस्कृत बोल रहे थे. यह क्रिकेट मैच देख रहे दर्शकों के लिए मुख्य आकर्षण का केंद्र बना रहा. कमेंट्री में संस्कृत के यह रोचक शब्द सुनने को मिले 'इदानीं यष्टिक्रीड़ा आरक्यते' (अब क्रिकेट शुरू होता है), 'कंदुकं सीमापारं गतम् (गेंद बाउंड्री के बाहर गई),' चतुष्कम् (चौका), षट्कम् (छक्का), धावनांका: (रन) बहिर्गमनम् (आउट).

Tags:    
Share it
Top