Top
Home > प्रदेश > बिहार > तेजस्वी यादव बोले, 'राम मनोहर लोहिया, कर्पूरी ठाकुर और कांशीराम को मिले भारत रत्न'

तेजस्वी यादव बोले, 'राम मनोहर लोहिया, कर्पूरी ठाकुर और कांशीराम को मिले भारत रत्न'

तेजस्वी यादव बोले, राम मनोहर लोहिया, कर्पूरी ठाकुर और कांशीराम को मिले भारत रत्न

70वें गणतंत्र दिवस के मौके पर...Editor

70वें गणतंत्र दिवस के मौके पर तीन लोगों को देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'भारत रत्न' देने का ऐलान किया गया. जिसमें पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, मशहूर संगीतकार भूपेन हजारिका और समाजसेवी नानाजी देशमुख का नाम शामिल है. वहीं, इस घोषणा के बाद बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कई अन्य समाजसेवियों को भारत रत्न देने की मांग की है.

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भारत रत्न पुरस्कार के लिए प्रणव मुखर्जी को बधाई दी है. लेकिन उन्होंने अन्य कई नेताओं और समाजसेवियों को इस पुरस्कार से सम्मानित करने की मांग की है.

तेजस्वी यादव ने ट्विट कर भारत रत्न पुरस्कार विजेताओं को बधाई दी. उन्होंने इसी के साथ राम मनोहर लोहिया, जननायक कर्पूरी ठाकुर और कांशीराम को भारत रत्न देने की मांग की.

भारत रत्न पुरस्कार विजेताओं को बधाई।

श्री राम मनोहर लोहिया

जननायक कर्पूरी ठाकुर

मान्यवर कांशीराम जी

को भारत रत्न अवश्य ही मिलना चाहिए। वंचित, उपेक्षित समाज के उत्थान में उनके योगदान को कोई नहीं नकार सकता। किसी महापुरुष की विचारधारा, धर्म, जाति और वर्ग इसमें आड़े नहीं आना चाहिए।

तेजस्वी ने लिखा, 'भारत रत्न पुरस्कार विजेताओं को बधाई. राम मनोहर लोहिया, जननायक कर्पूरी ठाकुर, कांशीराम जी को भारत रत्न अवश्य ही मिलना चाहिए. वंचित, उपेक्षित समाज के उत्थान में उनके योगदान को कोई नहीं नकार सकता.' इसी के साथ उन्होंने कहा कि किसी महापुरुष की विचारधारा, धर्म, जाति और वर्ग इसमें आड़े नहीं आना चाहिए.

भारत रत्न इस साल पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, मशहूर संगीतकार भूपेन हजारिका और आरएसएस से जुड़े नेता एवं समाजसेवी नानाजी देशमुख को दिया जाएगा. शुक्रवार को राष्ट्रपति भवन से जारी बयान में कहा गया कि नानाजी देशमुख एवं भूपेन हजारिका को यह सम्मान मरणोपरांत प्रदान किया जाएगा. इस घोषणा पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रसन्नत व्यक्त की है.

आपको बता दें कि प्रणव मुखर्जी भारत के 13वें राष्ट्रपति रह चुके हैं. वह 2012 से 2017 तक राष्ट्रपति पद पर रह चुके हैं. वहीं, अक्टूबर 1916 को जन्मे नानाजी देशमुख का 27 फरवरी 2010 को निधन हो गया. वह समाजसेवी और भारतीय जनसंघ के नेता थे

Tags:    
Share it
Top