Top
Home > प्रदेश > बिहार > AK-47 की ढेर पर मुंगेर! फिर बरामद हुआ 12 अर्धनिर्मित राइफल

AK-47 की ढेर पर मुंगेर! फिर बरामद हुआ 12 अर्धनिर्मित राइफल

AK-47 की ढेर पर मुंगेर! फिर बरामद हुआ 12 अर्धनिर्मित राइफल

बिहार के मुंगेर जिला इन दिनों ...Editor

बिहार के मुंगेर जिला इन दिनों AK-47 आधुनिक हथियारों के लिए चर्चा में हैं. AK-47 मिलने के बाद से यहां पुलिस के होश उड़े हैं. वहीं, लगातार जांच और छापेमारी में एक के बाद एक खुलासे हो रहे हैं. साथ ही AK-47 राइफल समेत उनके पार्ट्स भी बरामद किए जा रहे हैं. मुंगेर में एक बार फिर पुलिस ने 12 अर्धनिर्मित AK-47 बरामद किया है.

मुंगेर में एक माह में अब तक 20 एके-47 बरामद किए जा चुके हैं. आपको बता दें कि जांच में खुलासा हुआ था कि जबलपुर सीओडी से 60-70 एके-47 राइफल गायब किए गए हैं. वहीं, हथियारों की बरामदगी के लिए पुलिस मध्य प्रदेश, झारखंड, बंगाल और बिहार में फैले नेटवर्क को ध्वस्त करने में जुटी है. पुलिस ने अब तक एक दर्जन लोगों को गिरफ्तार भी किया है. जिसमें महिलाएं भी शामिल है.

मुंगेर पुलिस द्वारा लगातार बिहार समेत अन्य राज्यों में छापेमारी कर रही है. इस दौरान पुलिस ने झारखंड के हजारीबाग से तनवीर आलम नाम के शख्स को गिरफ्तार किया है. वहीं, तनवीर के निशानदेही पर गुरुवार रात को पुलिस ने बहदह गांव में फिर से छापेमारी करने पहुंची. इससे पहले भी बरदह गांव से ही 4 एके-47 बरामद किए थे.

तनवीर ने बताया

तनवीर आलम ने पुलिस को बताया कि एके-47 राइफल को मो. इमरान और मो. शमशेर आलम को दिया गया था. उन्होंने सभी हथियार इरफान को दिया और उसने बोरे में हथियारों को पैक कर कुएं में फेंक दिया. जब पुलिस ने निशानदेही पर सर्च किया तो कुएं से 12 एके-47 के पार्ट्स बरामद किया गया.

हजारीबाग से तनवीर की गिरफ्तारी

बताया जाता है कि पुलिस जब मुंगेर में छापेमारी कर रही थी. तो तनवीर आलम भाग कर हजारीबाग चला गया और वहां, उसने एक कुरकुरे की फैक्ट्री में काम करने लगा. तनवीर का नाम उजागर होने के बाद पुलिस हजारीबाग पहुंचकर उसे गिरफ्तार कर लिया. तनवीर आलम के पिता एजाजुल रहमान को भी पुलिस ने 12 सितंबर को बरदह गांव से गिरफ्तार किया था. उसके पास से भी दो डीडीवीएल गन बरामद की गई थी.

पहली बार बरामद हुई थी एके-47

आपको बता दें कि मुंगेर में एक माह पहले जमालपुर स्थित जुबली वेल के पास से एके-47 राइफल बरामद किया गया था. जिसके बाद से यह सिलसिला शुरू हुआ. जब पुलिस ने इस बारे में जांच शुरू की तो लगातार नए-नए खुलासे होने लेगे. जिसमें मुंगेर के हथियारों के तार जबलपुर से जुड़े मिले. जबलपुर पुलिस ने भी खुलासा किया कि यहां सीओडी से एके-47 गायब हुई है.

मुजफ्फरपुर पूर्व मेयर की हत्या से भी जुड़े तार

खुलासे में यह भी पता चला था कि एके-47 नकस्लियों को भी बेचे गए हैं. वहीं, इससे कई वारदातों को अंजाम दिया गया है. वहीं, हाल ही में मुजफ्फरपुर में हुए पूर्व मेयर के हत्याकांड के तार भी इससे जुड़े होने की जांच चल रही है. क्यों कि पूर्व मेयर समीर कुमार और उनके ड्राइवर की हत्या एके-47 से ही की गई थी. पुलिस ने भी इस बात की पुष्टि की थी.

बहरहाल, मुंगेर में जिस तरह से एके-47 हथियारों की बरामदगी हो रही है. लगता है कि मुंगेर एके-47 के ढेर पर बैठा है. और इसे एके-47 की मंडी बनाने की तैयारी की जा रही थी. हालांकि पुलिस अब इस असफल करने में जुटी है

Tags:    
Share it
Top