Home > प्रदेश > बिहार > JDU MLA बीमा भारती के बेटे की मौत का रहस्य-हत्या, आत्महत्या या हादसा, जानिए

JDU MLA बीमा भारती के बेटे की मौत का रहस्य-हत्या, आत्महत्या या हादसा, जानिए

JDU MLA बीमा भारती के बेटे की मौत का रहस्य-हत्या, आत्महत्या या हादसा, जानिए

जदयू विधायक बीमा भारती के बेटे ...Editor

जदयू विधायक बीमा भारती के बेटे दीपक की मौत में हत्या, आत्महत्या और हादसा तीनों आशंकाएं व्यक्त की जा रही हैं। दोस्तों का कहना है कि गर्लफ्रेंड से ब्रेकअप के बाद वह डिप्रेशन में चला गया था, जबकि पिता अवधेश मंडल ने पांच लोगों पर नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है। उनके मुताबिक पुराने दुश्मनों ने बदला लेने के उद्देश्य से बेटे की हत्या कर दी।

दुर्घटना से मौत की आशंका

वहीं, दैनिक जागरण को पोस्टमॉर्टम से जुड़े सूत्रों ने हादसे की आशंका जताई है। सूत्र बताते हैं कि दीपक के शरीर पर मौत से पहले के कोई ताजा जख्म नहीं मिले हैं। ठोस वस्तु जैसे रेल की पटरी से चोट लगने से उसके स्कल (मस्तिष्क के अंदर का भाग) का पिछला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया और मौके पर ही उसने दम तोड़ दिया। बदन में कहीं गोली लगने या चाकू मारे जाने का कोई निशान नहीं है।

परिस्थिति पर गौर किया जाए तो जय महावीर कॉलोनी के जिस कमरे में दीपक दोस्तों के साथ ठहरा था, वहां से रेलवे लाइन की दूरी लगभग 700 मीटर है। उसे पार करने के बाद ओल्ड बाईपास रोड आ जाती है। वहां से कहीं भी जाने के लिए सवारी गाड़ी मिल जाती है।

इधर, राजेंद्र नगर की तरफ से ऑटो पकड़ने के लिए उसे कम से कम तीन किलोमीटर पैदल चलना पड़ता। ज्यादातर लोग रात के वक्त ओल्ड बाईपास का ही इस्तेमाल करते हैं। अंदेशा है कि रात में दोस्तों के सोने के बाद दीपक कमरे से निकलकर उसी रास्ते पर जा रहा होगा। उसी वक्त वहां से कोई ट्रेन तेजी से गुजरी होगी, जिसका झटका लगने पर वह अनियंत्रित होकर गिर पड़ा। पटरी से उसके सिर का पिछला हिस्सा टकराया, जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

हालांकि औपचारिक पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट हो पाएगा। जल्द ही रिपोर्ट मिलने की उम्मीद है।

विधायक पुत्र की मौत के बाद उठ रहे कई सवाल

विधायक पुत्र के मौत के बाद कई सवाल उठ रहे हैं। राजेंद्र नगर रेल थाना अंतर्गत दाउद बिगहा के सामने शुक्रवार की सुबह जदयू विधायक बीमा भारती के 21 वर्षीय पुत्र दीपक कुमार का शव रेलवे ट्रैक किनारे मिलते ही अधिकारी घटनास्थल पहुंचे।

एसएसपी मनु महाराज अन्य पुलिस अधिकारियों के साथ जय महावीर कॉलोनी के रोड संख्या तीन में गए। वहां उन्होंने गुरुवार की रात पुष्प विला भवन में ठहरे कमरा संख्या पांच बी में पहुंचे। वहां उन्होंने कमरे में रहने वाले छात्र रितिक रौशन व मृत्युजंय से पूछताछ किया।

उक्त भवन की मालकिन पुष्पा देवी राजा बाजार में रहती है। यहां पर पूरे भवन के कमरे किराए पर लगे हैं। बताते चले कि जहां दीपक का शव मिला है वहां से इस घर की दूरी लगभग एक किलोमीटर है।

इंटर की छात्रा से करता था प्यार, लड़की वाले शादी को नहीं थे तैयार

जदयू विधायक बीमा भारती के बेटे दीपक के दोस्तों के अनुसार वह पूर्णिया के रूपौली स्थित अपने घर के समीप रहने वाली इंटर की छात्र से प्यार करता था और उससे शादी करना चाहता था। दीपक ने बिहार संस्कृत बोर्ड से मैट्रिक की परीक्षा पास की थी। वहीं लड़की इंटर में पढ़ाई कर रही है। दोनों एक-दूसरे को बचपन से जानते थे। लेकिन, लड़की के परिवार वाले शादी को तैयार नहीं थे।

शादी की बात को लेकर गांव में भी विवाद हुआ था। इसके बाद परिवार वालों ने लड़की को पढ़ने के लिए चंडीगढ़ भेज दिया था। उससे मिलने दीपक चंडीगढ़ भी गया था। दीपक के दोनों दोस्त सीपी ठाकुर कॉलेज से स्नातक कर रहे हैं। दोस्तों ने बताया कि दीपक के पास दो मोबाइल थे।

काफी तनाव में था दीपक

दोस्तों ने बताया कि दीपक काफी तनाव में था। हमेशा वह प्रेमिका के बारे में ही बातें करता था। प्रथम दृष्टया मित्र मौत को दुर्घटना बता रहे हैं। एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि पूरे मामले की जांच की जा रही है। घटनास्थल से एफएसएल की टीम ने रक्त के नमूने लिए हैं। खोजी कुत्ते ने भी घटनास्थल की जांच की।

प्रथम दृष्टया रेल पुलिस का कहना है कि किसी ट्रेन के चपेट में आने से गंभीर रूप से जख्मी होने से मृत्यु प्रतीत हो रही है। रेल पुलिस इसे दुर्घटना मान रही है।

प्रेमिका से हुई थी रात में बात

घटनास्थल पर डीआइजी राजेश कुमार के समक्ष दीपक के मित्र रितिक रोशन और मृत्युंजय कुमार ने बताया कि गुरुवार की रात 10:30 बजे दीपक बाजार समिति के समीप जय महावीर कॉलोनी स्थित रोड संख्या तीन के लॉज पुष्प विला अपार्टमेंट के फ्लैट संख्या पांच में आया था। रात में वह मोबाइल पर गर्लफ्रेंड से बात कर रहा था।

गुरुवार की रात 3:30 बजे जब नींद खुली तो दीपक कमरे में नहीं मिला। बाहर खोजबीन करने पर भी नहीं मिला। जब उसके मोबाइल पर फोन किया तो फोन उठाने वाले किसी मजदूर ने बताया कि रेलवे ट्रैक किनारे दीपक का शव पड़ा है।

विधायक ने अपने पति अवधेश मंडल पर लगाया था आरोप

रूपौली की विधायक बीमा भारती के जिस पुत्र दीपक का शव पटना में रेलवे ट्रैक पर शुक्रवार को मिला, उसकी उसे 2012 में एक बार जहर खिलाया गया था। नवंबर 2012 में ऐसा एक केस अकबरपुर ओपी में विधायक बीमा भारती ने ही दर्ज कराया था।

प्राथमिकी में विधायक ने अपने पति एवं बच्चे के पिता अवधेश मंडल को आरोपित बनाया था। उस वक्त दीपक की उम्र 16 वर्ष की थी। बाद में दीपक की स्थिति गंभीर देखकर उसे पूर्णिया के मैक्स सेवन अस्पताल में भर्ती किया गया था। हालांकि, जिस समय यह घटना हुई थी, उस वक्त विधायक बीमा भारती एवं उनके पति के बीच विवाद चल रहा था। पति-पत्नी के बीच विवाद के कई मामले थाने में दर्ज हैं।

बीमा के सास और ससुर की भी हुई थी हत्या

घटना को लेकर मधेपुरा जिले में स्थित अवधेश मंडल के पुश्तैनी गांव धुरिया परबत्ता में भी सन्नाटा पसरा है। बीमा भारती जब पहली बार विधायक बनीं, तब उन्होंने भिट्ठा में जमीन लेकर घर बनवाया। बीमा के ससुर अजरुन मंडल तथा सास की भी हत्या कर दी गई थी।

बीमा के पति अवधेश मंडल भाइयों में अकेले हैं। अवधेश मंडल के पिता तीन भाई थे, जिनमें से दो गुजर गए हैं। पुश्तैनी घर में उनके एक चाचा सियाराम मंडल अन्य लोगों के साथ रहते हैं।

Tags:    
Share it
Top