Home > Breaking > करोड़ों के वारे-न्यारे कर 'गुमान' में गुलाबी शहर के 4 स्टार होटल में फरमा रहे थे आराम, अचानक पहुंची 'गणेश' जी की टीम

करोड़ों के वारे-न्यारे कर 'गुमान' में गुलाबी शहर के 4 स्टार होटल में फरमा रहे थे आराम, अचानक पहुंची 'गणेश' जी की टीम

करोड़ों के वारे-न्यारे कर गुमान में गुलाबी शहर के 4 स्टार होटल में फरमा रहे थे आराम, अचानक पहुंची गणेश जी की टीम

वाराणसी: करोड़ों रुपये के शाइन...Public Khabar

वाराणसी: करोड़ों रुपये के शाइन सिटी घोटाले में वाराणसी पुलिस को एक और बड़ी सफलता मिली है। इस मामले के एक और आरोपी राजीव सिंह को वाराणसी पुलिस ने जयपुर से गिरफ्तार किया है। वाराणसी पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश के निर्देशन और अगुवाई में वाराणसी पुलिस ने इस मामले में अब तक तीसरे राज्य में सफल आपरेशन को अंजाम दिया है । इसके पहले बिहार और बंगाल से भी आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

राजीव सिंह को जिस समय वाराणसी पुलिस ने गिरफ्तार किया, इस समय वह जयपुर के एक 4 सितारा होटल में आराम फरमा रहा था। थे। राजीव सिंह वैसे तो बिहार का मूल निवासी है, लेकिन वाराणसी में वह सुसुवाही, चितईपुर इलाके में अपना ठिकाना बनाकर रहता था। राजीव सिंह वर्तमान में कई महीनों से आधा दर्जन मामलो में वांछित चल रहा था।

वाराणसी के पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने बताया, "हाल ही में एसीएस होम के निर्देश पर शाइन सिटी स्कैम के आरोपियों राशिद नसीम और आसिफ नसीम पर ₹5 लाख का इनाम घोषित किया गया है। इसी सिलसिले में वाराणसी पुलिस द्वारा, शाइन सिटी से जुड़ी, पिछले चंद दिनों में ये चौथी गिरफ्तारी है।"


गिरफ्तार अभियुक्त राजीव सिंह
गिरफ्तार अभियुक्त राजीव सिंह


पुलिस कमिश्नर ने कहा, "अपराध अपराध है, चाहे वह किसी भी श्रेणी का क्यों न हो, वाराणसी पुलिस सभी अपराधियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करने के लिए प्रतिबद्ध है। शाइन सिटी मामले से जुड़े सभी आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर उन्हें उनके कानूनी अंजाम तक पहुंचाया जाएगा।"

वाराणसी पुलिस कमिश्नर ने अपनी टीम के उत्साहवर्धन के लिए 50 हज़ार रुपये के इनाम देने की घोषणा भी की है।

राजीव कुमार सिंह पुत्र श्री लाल बाहदुर सिंह निवासी- सत्संग विहार कॉलोनी सुसुवाही वाराणसी। यह मूलतः ग्राम- गौरा थाना-मोहनिया जिला कैमूर बिहार का निवासी है। इसकी पत्नी नीतू बिहार ससाराम में मिडिल स्कूल में अध्यापक है।

राजीव सिंह ने स्नातक करने के बाद कंप्यूटर साइंस डिप्लोमा किया है एवं 2011 में बिरला इंश्योरेंस कंपनी में जॉइन किया जिसमें वह एजेंसी मैनेजर था। उस समय बिरला में राशिद नसीम कॉरपोरेट एजेंट था। दोनों का परिचय बिरला कंपनी में ही हुआ था।

2013 में शाइन सिटी इंफ़्राटेक कंपनी राशिद नसीम और उसके भाई आसिफ नसीम ने बनाई तब राजीव को लखनऊ में मैनेजर बनाया था।

वर्ष 2014 में राजीव कुमार सिंह को वाराणसी का हेड नियुक्त किया उस समय राशिद नसीम ने राजीव सिंह के नाम से राजातालाब खजूरी में जमीन का पावर ऑफ अटॉर्नी बनाया। किसानों से जमीन कंपनी की तरफ से राजीव ही खरीदता था।

जबकि सेल्स की जिम्मेदारी अमिताभ श्रीवास्तव की थी। उससे राजीव की मुलाकात शाइन सिटी इंफ्रा टेक में ही हुई। अमिताभ के माध्यम से कंपनी का विस्तार अन्य शहरों में हुआ। अमिताभ श्रीवास्तव सेल्स डिपार्टमेंट देखता था और वह कंपनी में एडिशनल डायरेक्टर के पद पर था। राजीव सिंह के विरुद्ध वाराणसी, लखनऊ आदि में काफी मुकदमे दर्ज हैं जिनमे वांछित चल रहा था।

इकनोमिक ऑफेंस विंग ने विवेचना के दौरान राजीव सिंह के विरुद्ध न्यायालय से गैर जमानती वारंट प्राप्त किया था। ईओडब्ल्यू से प्राप्त एनबीडब्ल्यू व हुकुम तहरीरी के आधार पर राजीव सिंह व अन्य अभियुक़्तों की गिरफ्तारी के लिए वाराणसी पुलिस द्वारा अलग-अलग टीमो का गठन किया गया है।

क्राइम ब्रांच वाराणसी व थाना चितईपुर/ लंका की पुलिस टीम द्वारा अभियुक्त राजीव सिंह को गुमान हेरिटेज होटल जयपुर राजस्थान से गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की जहां पर अभियुक्त नाम बदलकर, छिपकर रह रहा था।

अभियुक्त को गिरफ्तार कर थाना बजाज नगर, जयपुर में दाखिल कर सड़क मार्ग से वाराणसी लाया जा रहा है जहां पर पूछताछ के बाद न्यायिक अभिरक्षा में रिमांड हेतु माननीय न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा।

Tags:    

Latest News

View All
Share it
Top