Home > लाइफस्टाइल > गैजेट्स > Whatsapp सेवा का दुरुपयोग करते हैं राजनीतिक दल

Whatsapp सेवा का दुरुपयोग करते हैं राजनीतिक दल

Whatsapp सेवा का दुरुपयोग करते हैं राजनीतिक दल

फेमस एप व्हॉट्सएप ने बुधवार...Editor

फेमस एप व्हॉट्सएप ने बुधवार को कहा कि राजनीतिक दलों द्वारा उसके प्लेटफार्म का दुरुपयोग करने के कई मामले सामने आए हैं. कंपनी ने स्पष्ट किया है कि वह राजनीतिक दलों के साथ इस बारे में बातचीत कर रही है तथा उन्हें यह बता रही है कि इस तरह के दुरुपयोग पर उनके खातों को बंद किया जा सकता है. व्हॉट्सएप के हेड ऑफ कम्यूनिकेशंस कार्ल वुग ने यहां संवाददाताओं से कहा, ''हमने देखा है कि कई पक्ष व्हॉट्सएप का इस तरीके से इस्तेमाल का प्रयास करते हैं जैसा नहीं होना चाहिए. हमारा उनको संदेश है कि ऐसी स्थिति में उनको हमारी सेवाएं प्रतिबंधित हो सकती हैं.''

उन्होंने कहा कि चुनाव के समय हम चीजों को लेकर पूरी तरह स्पष्ट हैं कि व्हॉट्सएप का दुरुपयोग हो रहा है. हम उनको पहचानने तथा जल्द से जल्द रोकने के लिए पूरी मेहनत से काम कर रहे हैं.

भारत में बंद हो सकता है WhatsApp, जानिए क्या है वजह

भारत में कारोबार कर रहीं सोशल मीडिया कंपनियों के लिए सरकार द्वारा प्रस्तावित कुछ नियम अगर लागू हो जाते हैं तो इससे WhatsApp के वर्तमान रूप के अस्तित्व पर भारत में खतरा आ जाएगा. कंपनी के एक शीर्ष कार्यकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी. न्यूज एजेंसी IANS ने यह खबर दी है. भारत में WhatsApp के 20 करोड़ मासिक यूजर्स हैं और यह कंपनी के लिए दुनिया का सबसे बड़ा बाजार है. कंपनी के दुनिया भर में कुल 1.5 अरब यूजर्स हैं. यहां एक मीडिया कार्यशाला से इतर WhatsApp के कम्यूनिकेशन प्रमुख कार्ल वूग ने कहा कि, "प्रस्तावित नियमों में से जो सबसे ज्यादा चिंता का विषय है, वह मैसेजेज का पता लगाने पर जोर देना है."

फेसबुक के स्वामित्व वाली WhatsApp डिफाल्ट रूप से एंड-टू-एंड एनक्रिप्शन की पेशकश करता है, जिसका मतलब यह है कि केवल भेजनेवाला और प्राप्त करनेवाला ही संदेश को पढ़ सकता है और यहां तक कि WhatsApp भी अगर चाहे तो भेजे गए संदेशों को पढ़ नहीं सकता है. वूग का कहना है कि इस फीचर के बिना WhatsApp बिल्कुल नया उत्पाद बन जाएगा.

Share it
Top