Top
Home > विदेश > वाशिंगटन की सड़कों पर आंदोलन, फ्री कराची कैंपेन से उड़े पाकिस्तान के होश

वाशिंगटन की सड़कों पर आंदोलन, 'फ्री कराची' कैंपेन से उड़े पाकिस्तान के होश

वाशिंगटन की सड़कों पर आंदोलन, फ्री कराची कैंपेन से उड़े पाकिस्तान के होश

वाशिंगटन. वाशिंगटन डीसी में...Editor

वाशिंगटन. वाशिंगटन डीसी में फ्री कराची कैंपेन का दूसरा चरण शुरू हो चुका है. इस दूसरे चरण में वाशिंगटन डीसी में 100 टैक्सियां फ्री कराची के बैनर्स के साथ नजर आ रही हैं. ये कैंपेन डॉ. मार्टीन लूथर किंग के जन्मदिन पर शुरू किया गया था. इसका मकसद पाकिस्तान में मुजाहिरों के खिलाफ दमन को दुनिया के सामने लाना है.

अंदरुनी हालातों से जूझ रहे पाकिस्‍तान को विदेश में रह रहे उसी के नागरिक चुनौती दे रहे हैं. फ्री कराची कैंपेन इसी की बानगी है. इस कैंपेन ने पाकिस्‍तान को अंदर तक हिला दिया था. पाकिस्तान की बौखलाहट भी इससे साफ नजर आने लगी थी. इसका एक फुल पेज विज्ञापन वाशिंगटन टाइम्‍स के पहले पेज पर छपा था. इतना ही नहीं, कैंपेन के पोस्‍टर्स लंदन से लेकर जिनिवा तक दिखाई भी दिए.

इतना ही नहीं अमेरिका में मुहाजिरों द्वारा शुरू किए गए फ्री कराची मुहिम में एक अमेरिकी सांसद भी शामिल हुए थे. अमेरिकी सांसद ने ट्रंप प्रशासन से कराची में मुहाजिरों के खिलाफ चलाए जा रहे मानवाधिकार दमन रोकने में हस्तक्षेप करने की मांग की. सांसद टॉम ग्रेट ने एक बयान जारी कर कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप का पाकिस्तान की मदद निलंबित करने का फैसला उनके नेतृत्व का एक स्पष्ट संकेत है.
ग्रेट ने कहा कि अमेरिका का सहयोगी बने रहने के लिए पाकिस्तान को आतंकवाद का पूरी तरह से उन्मूलन करना होगा. सबसे महत्वपूर्ण कराची में मुहाजिरों, बलूच, पख्तून एवं अन्य अल्पसंख्यक समुदायों को सेना, अर्धसैनिक एवं खुफिया विभाग द्वारा किया जा रहा दमन बंद होना चाहिए.' सदन की विदेशी मामलों की समिति के सदस्य सांसद ग्रेट की यह टिप्पणी वाशिंगटन टाइम्स में प्रकाशित हुई.

Tags:    
Share it
Top