Top
Home > मुख्य समाचार > मोदी-ट्रंप में फोन पर बातचीत, दक्षिण एशिया पर यह बनी रणनीति

मोदी-ट्रंप में फोन पर बातचीत, दक्षिण एशिया पर यह बनी रणनीति

मोदी-ट्रंप में फोन पर बातचीत, दक्षिण एशिया पर यह बनी रणनीति

भारत और अमेरिका के बीच दोस्ती...Editor

भारत और अमेरिका के बीच दोस्ती बढ़ रही है और दोनों मिलकर रणनीति बना रहे हैं। दोनों की दोस्ती का हालिया उदाहरण तब मिला जब अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ फोन पर बातचीत की। दोनों नेताओं ने मालदीव, बर्मा सहित अफगानिस्तान के मुद्दे पर चर्चा की। इस साल पहली बार दोनों नेताओं के बीच फोन पर बात हुई है। व्हाइट हाउस द्वारा जारी किए गए बयान में कहा गया- दोनों नेताओं ने भारत-प्रशांत क्षेत्र में सुरक्षा और समृद्धि के लिए मिलकर काम करने की बात दोहराई। ट्रंप की दक्षिण एशिया रणनीति को मानते हुए उन्होंने अफगानिस्तान की सुरक्षा और स्थिरता के समर्थन में अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।


बयान के अनुसार- दोनों नेताओं ने मालदीव और म्यांमार की घटनाओं पर भी चर्चा की और दोनों के बीच आपसी सहमति बनी। दोनों ने मालदीव में जारी राजनीतिक संकट पर चिंता व्यक्त की और लोकतांत्रिक संस्थाओं के सम्मान की जरूरत पर जोर दिया। ट्रंप ने उत्तर कोरिया और म्यांमार में रोहिंग्याओं के संकट को लेकर भी पीएम मोदी से चर्चा की। दोनों नेताओं ने भारत-प्रशांत क्षेत्र, अफगानिस्तान में जारी युद्ध, मालदीव के राजनीतिक संकट, म्यांमार में रोहिंग्या शरणार्थियों की स्थिति और उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम में सुरक्षा पर विचार किया।

ट्रंप ने अमेरिकी रुख स्पष्ट करते हुए कहा कि यह वक्त रोहिंग्या शरणार्थियों की वापसी के लिए उपयुक्त नहीं है। व्हाइट हाउस के मुताबिक ट्रंप और मोदी ने अपनी बातचीत के दौरान उत्तर कोरिया की परमाणु नीति तय करने के लिए आगामी रणनीति पर चर्चा की। बता दें कि मालदीव में सुप्रीम कोर्ट द्वारा विपक्ष के नौ नेताओं को रिहा करने के आदेश के बाद से ही राजनीतिक संकट शुरू हो गया था क्योंकि राष्ट्रपति यामीन की सरकार ने इस आदेश को मानने से इनकार कर दिया था। यामीन ने देश में 15 दिन के लिए आपातकाल लगा दिया है और सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस अब्दुल्ला सईद और एक अन्य जज अली हमीद को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Tags:    
Share it
Top