Home > देश > PUBLIC KHABAR EXCLUSIVE : AMU में बांटे गए कश्मीरी आतंकियों को हीरो बताने वाले कैलेण्डर

PUBLIC KHABAR EXCLUSIVE : AMU में बांटे गए कश्मीरी आतंकियों को हीरो बताने वाले कैलेण्डर

PUBLIC KHABAR EXCLUSIVE : AMU में बांटे गए कश्मीरी आतंकियों को हीरो बताने वाले कैलेण्डर

अलीगढ़. अगर आप समझते हैं कि सिर...Public Khabar

अलीगढ़. अगर आप समझते हैं कि सिर्फ डब्बू रत्नानी ने नए साल पर बॉलीवुड स्टार्स का कैलेंडर रिलीज किया है तो एक बार फिर सोच लीजिये. यूपी के अलीगढ़ यूनिवर्सिटी कैंपस में एक दर्जन से ज्यादा आतंकियों की तस्वीर वाला कैलेंडर नए साल पर स्टूडेंट्स के बीच बांटे गए. इन कैलेंडर्स के एक झलक देखने के बाद आप समझ जाएंगे कि किस तरह आतंकियों को कश्मीर की आजादी का सिपाही और हीरो दिखाकर उनका बखान किया गया है.

यह कैलेंडर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले कश्मीरी मूल के रिसर्च स्कॉलर्स मन्नान बशीर वानी और शफत मकबूल ने बंटवाये और स्टूडेंट्स के बीच इसे बांटा गया. उद्देश्य था कश्मीरी आतंकियों को वर्ग विशेष के स्टूडेंट्स के बीच भारत और भारत सरकार के लिए नफरत पैदा करना.
सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि इस कैलेण्डर और राष्ट्रद्रोही काम की जानकारी केंद्र सरकार और भारत सरकार दोनों को ही है, लेकिन दोनों ही सरकारें खामोश हैं. जहां केंद्र की बीजेपी सरकार अपने विकास के मुद्दे को सामने रखने के लिए इस मामले को ठंडे बसते में डाले हुए है वहीँ यूपी की सपा सरकार इस मुद्दे के सामने आने से वोटों के ध्रुवीकरण से डरी हुई है.


केंद्रीय खुफिया एजेंसी के एक अधिकारी ने publcikkhabar.com को बताया कि इस मामले की जांच की जा रही है और इस बारे में एक इन्टेरिम रिपोर्ट केंद्रीय गृह मंत्रालय को भेजी जा चुकी है. इस कैलेंडर को सर्कुलेट करने में अलीगढ यूनिवर्सिटी के दो स्टूडेंट्स का नाम सामने आया है. मन्नान बशीर वानी और शफत मकबूल, ये दोनों ही पीएचडी के स्टूडेंट्स हैं और कश्मीर के रहने वाले हैं.

वहीं अलीगढ़ से लेकर राज्य सरकार तक के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी इस मामले के संज्ञान में न होने की बात कह अपना पल्ला झाड़ रहे हैं. यूपी एटीएस के आईजी असीम अरुण ने बताया कि इस तरह के पोस्टर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में बांटे जाने का मामला सामने आया है. यह पोस्टर लोगों को भड़काने के उद्देश्य से बांटे गए थे. इन कैलेंडर पर बकायदा कश्मीर में इंडियन सिक्यूरिटी फोर्सेज द्वारा आतंकियों के खिलाफ की गई कार्रवाई की तारीखों को हाईलाइट किया गया है. ताकि लोग इन तारीखों में पर भारत सरकार के खिलाफ अपना विरोध प्रकट करें. उन्होंने बताया कि यह कैलेण्डर सोशल मीडिया पर वायरल किये गए फिर इनके प्रिंटआउट स्टूडेंट्स के बीच बांटे गए. ऐसे तत्वों के ऊपर पैनी निगाह रखी जा रही


12 पेज के इस कैलेंडर पर इन आतंकियों की है तस्वीर

- बुरहान वानी

-अफज़ल गुरु

- मकबूल बट

- अशफाक मजीद

- नदीम खातीब

- सरजन बरकली

- मुफ़्ती हिलाल

- इशहाक अहमद

- तुफैल मट्टू

- इरफ़ान फ़याज़

- इरफ़ान फ़याज़

-खालिद वानी (बुरहान वानी का भाई)

- अयूब ठाकुर

- जलील इन्द्राबी

- मसरत आलम

- कासिम फकतू

-जौहर नजीर

- नईम कादिर

Tags:    
Share it
Top