Home > देश > लोकतंत्र के लिए मिसाल बना ये परिवार, मतदान के लिए 'मौत' को भी कराया इंतजार

लोकतंत्र के लिए मिसाल बना ये परिवार, मतदान के लिए 'मौत' को भी कराया इंतजार

लोकतंत्र के लिए मिसाल बना ये परिवार, मतदान के लिए मौत को भी कराया इंतजार

बहराइच. आपने अब तक दूल्हा दुल्...Public Khabar

बहराइच. आपने अब तक दूल्हा दुल्हन को फेरे लेने से पहले वोट डालने के किस्से बहुत सुने होंगे। लेकिन बहराइच से जो मामला सामने आया है उसकी कोई दूसरी मिसाल नही मिलेगी। यहाँ एक परिवार ने आने घर के बुजुर्ग की मौत हो जाने के बाद भी मतदान किया, वह भी घर में अर्थी रखे होने के बाद भी।

मिली जानकारी के मुताबक जरवल रोड बाजार निवासी 70 वर्षीय राम प्रकाश की रविवार को देर शाम मृत्यु हो गई थी। सोमवार सुबह से वोटिंग होनी थी।

लेकिन मौत का पहाड़ टूटने के बाद भी शोकाकुल परिवार में मृतक की पत्नी शांति, पुत्र केशव राम, बुद्ध राम, पौत्र संजय, कुलदीप, पौत्री सीमा, आराधना, बहू सविता और अनीता ने सोमवार सुबह बम्भौरा जरवल रोड की बूथ संख्या 370 पर सुबह 7.40 बजे पहुंचकर पहले मतदान किया। इसके बाद परिवार ने राम प्रकाश की अर्थी कंधा देकर अंतिम संस्कार के लिए पहुंचाया। मतदान जैसे महापर्व में इस तरह से हिस्सा लेने से यह परिवार लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है।

Tags:    
Share it
Top