Top
Home > जीवन-धर्म > कोरोना काल में इन नियमों को मानेंगे तभी देंगे भगवान दर्शन

कोरोना काल में इन नियमों को मानेंगे तभी देंगे भगवान दर्शन

कोरोना काल में इन नियमों को मानेंगे तभी देंगे भगवान दर्शन

लगभग दो महीने से अधिक समय से...Priya (Payal)

लगभग दो महीने से अधिक समय से मंदिर जाकर भगवान का दर्शन-पूजन करने को आतुर श्रद्धालुओं ले लिए अच्छी खबर है. जल्दी ही मंदिरों के दरवाजे आम जनता के खोल दिए जाएंगे. लेकिन मंदिर में प्रवेश के लिए कुछ नियम लागू होंगे, जिनका पालन करना जरूरी होगा ताकि ऐसे में कोरोना का संक्रमण ना बढ़े.


8 जून से सभी मंदिरों को खोल दिया जाएगा लेकिन उसके लिए कुछ बातो को ध्यान में रखना होगा.

जैसे कि मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करे मूर्तियों को और मंदिर की किसी चीज को ना छुए. प्रसाद आदि का वितरण ना किया जाए.

मंदिर से निकलने के बाद तुरंत अपनी हाथों को अच्छे से साबुन से धोएं या सैनिटाइजर का प्रयोग करें. इन नियमो का पालन करके आप कोरोना के संक्रमण से बच सकते हैं.

वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर प्रशासन ने तैयारियां पूरी कर ली हैं. जो भी श्रद्धालु मंदिर में दर्शन करने पहुंचेंगे, मेन गेट पर ही उनका थर्मल स्कैनिंग की जाएगी तभी वे मंदिर में प्रवेश पा सकेंगे जाएगा. अंदर आने के बाद दो-दो मीटर पर गोले बनाए गए हैं. जहां पर श्रद्धालुओं को खड़ा होना होगा. जब अगला गोला खाली होगा, तभी श्रद्धालु आगे बढ़ेंगे. सभी श्रद्धालुओं को मास्क लगाना अनिवार्य होगा और मंदिर से घुसने से पहले अपने हाथ को सैनिटाइज करना होगा.

मंदिर के गर्भगृह के अंदर प्रवेश वर्जित होगा. पुजारियों को टीका लगाने की अनुमति नहीं होगी. भगवान को अर्पित किया हुआ फूल किसी को वापस नहीं दिया जाएगा और जब एक श्रद्धालु दर्शन करके निकल जाएगा, तभी दूसरा श्रद्धालु दर्शन कर पाएगा.

बता दें कि 22 मार्च से देश भर के सभी मंदिरों, गुरुद्वारा से लेकर चर्च और मस्जिदों में प्रवेश पर रोक थी, लेकिन अब धार्मिक स्थल खुलने की छूट मिलने के बाद लोगों को खुद ही अपना ख्याल रखना होगा.



Share it
Top