Top
Home > प्रदेश > उत्तराखंड > सरकारी विभागों के संविदा कर्मचारियों के लिए बुरी खबर, पढ़कर बढ़ जाएगी टेंशन

सरकारी विभागों के संविदा कर्मचारियों के लिए बुरी खबर, पढ़कर बढ़ जाएगी टेंशन

सरकारी विभागों के संविदा कर्मचारियों के लिए बुरी खबर, पढ़कर बढ़ जाएगी टेंशन

सरकारी विभागों में काम कर रहे...Editor

सरकारी विभागों में काम कर रहे संविदा कर्मचारियों के लिए बुरी खबर है। उपनल के इस फरमान को पढ़कर कर्मचारियों की टेंशन बढ़ जाएगी। उपनल ने निर्णय लिया है कि, 60 साल की आयु पूरी कर चुके उपनल कर्मचारी सेवानिवृत्त किए जाएंगे।

उपनल ने सभी विभागों को पत्र भेजकर ऐसे कर्मचारियों का ब्योरा मांगा है। विभागों को सेवानिवृत्ति से एक माह पहले उपनल को सूचना देनी होगी ताकि उन्हें दूसरे कार्मिक उपलब्ध कराए जा सकें। वर्ष 2004 में पूर्व सैनिकों और उनके आश्रितों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए उत्तराखंड पूर्व सैनिक कल्याण निगम (उपनल) का गठन किया गया था।

तब अधिकतम 45 वर्ष आयु तक के पूर्व सैनिकों और उनके आश्रितों को तैनाती दी गई। बाद के वर्षों में बड़ी संख्या में गैर सैन्य पृष्ठभूमि के लोगों को भी उपनल के माध्यम से अलग-अलग विभागों में नौकरियां प्रदान की गई। अब करीब 14 वर्ष बाद इनमें से कई लोग 60 वर्ष की आयु के पास पहुंचने लगे हैं।

उपनल ने विभागों को पत्र भेजकर ऐसे सभी कार्मिकों का ब्योरा तलब किया है, जो 60 वर्ष की आयु पूरी करने जा रहे हैं। वहीं, पूर्व सैनिकों ने इस निर्णय पर कड़ी नाराजगी जताई है। पूर्व सैनिकों के अनुसार, उपनल के शासनादेश में कहीं भी 60 वर्ष सेवानिवृत्ति आयु निर्धारित नहीं है।

प्रमुख सचिव सैनिक कल्याण आनंद वर्द्धन ने बताया कि उन्हें भी आयु सीमा को लेकर स्पष्ट जानकारी नहीं है। वहीं, एमडी उपनल ब्रिगेडियर पीपीएस पाहवा (सेनि) ने कहा कि सेवानिवृत्ति की आयु सीमा 60 वर्ष है, इसलिए नोटिस भेजा गया है।

Tags:    
Share it
Top