Top
Home > प्रदेश > उत्तराखंड > किसान क्रांति यात्रा शुरू, अपनी मांगों को लेकर हजारों किसान चले दिल्ली

किसान क्रांति यात्रा शुरू, अपनी मांगों को लेकर हजारों किसान चले दिल्ली

किसान क्रांति यात्रा शुरू, अपनी मांगों को लेकर हजारों किसान चले दिल्ली

स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट...Editor

स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने समेत कई मांगों के समर्थन में भारतीय किसान यूनियन की किसान क्रांति यात्रा आज शुरू हो गई।

अध्यक्ष नरेश टिकैत और राकेश टिकैत के नेतृत्व में क्रांति यात्रा शुरू हुई। इस दौरान हर क्षेत्र के जनप्रतिनिधि भी मौहूद रहे। यात्रा में भारी भीड़ उमड़ी। हर तरफ हरी टोपी पहने किसान घूमते नजर आ रहे हैं। किसान क्रांति यात्रा दिल्ली में राजघाट स्थित महात्मा गांधी की समाधि तक निकाली जाएगी। यात्रा में शामिल होने के लिए हजारों किसान शनिवार को ही हरिद्वार पहुंच गए थे।

किसानों के आने का सिलसिला रविवार को भी जारी रहा। वहीं, वरिष्ठ किसान नेता महंत त्रिकालदर्शी ने दावा किया है कि यात्रा ऐतिहासिक होगी।

किसान क्रांति यात्रा में शामिल होने के लिए आए किसानों ने शनिवार को वीआईपी घाट के साथ ही लालजीवाला रोड़ी बेलवाला और आसपास के कई घाटों पर कब्जा कर लिया था।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत, प्रदेश अध्यक्ष परमार सिंह चड्ढा, गढ़वाल मंडल अध्यक्ष संजय चौधरी और जिलाध्यक्ष विजय शास्त्री आदि नेता भी रैली में शामिल हो रहे हैं। राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि केंद्र सरकार किसान विरोधी रवैया अपना रही है।

उन्होंने बताया कि किसानों के हित में स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने के साथ ही किसानों को बिजली मुफ्त देने, देशभर के किसानों का कर्ज माफ करने और कृषि यंत्रों पर सब्सिडी बढ़ाने समेत अन्य मांगों के लिए यात्रा निकाली जा रही है। सरकार ने यदि किसानों के हित में कदम नहीं उठाया तो आंदोलन छेड़ा जाएगा। इस दौरान भाकियू सहारनपुर के जिलाध्यक्ष चरण सिंह, अशोक कुमार, निशांत चौधरी, अभिषेक शर्मा, ओमप्रकाश शर्मा, प्रेम सिंह सुहेता, बलजिंदर सिंह सिद्धू आदि मौजूद थे।

यह है किसान क्रांति यात्रा का कार्यक्रम

23 सितंबर को हरिद्वार से शुभारंभ, पतंजलि योगपीठ में रात्रि विश्राम

24 सितंबर को गुड़ मंडी मंगलौर में रात्रि विश्राम

25 सितंबर को नुमाइस कैंप, मुजफ्फरनगर

26 सितंबर को भैंसी खतौली

27 सितंबर को नुमाइस, कैंप मेरठ

28 सितंबर को बाईपास मार्ग गाजियाबाद

29 सितंबर को मोदीनगर

30 और एक अक्तूबर को दिल्ली

02 अक्तूबर को महात्मा गांधी की समाधि राजघाट पहुंचेगी यात्रा

(रास्तेभर में पंचायत कर किसानों को जागरूक करते हुए उन्हें साथ लिया जाएगा)

Tags:    
Share it
Top