Top
Home > प्रदेश > उत्तराखंड > हिमालय संरक्षण जागरुकता रैली आज से, मुख्यमंत्री आवास से होगा शुभारंभ

हिमालय संरक्षण जागरुकता रैली आज से, मुख्यमंत्री आवास से होगा शुभारंभ

हिमालय संरक्षण जागरुकता रैली आज से, मुख्यमंत्री आवास से होगा शुभारंभ

प्रांतीय उद्योग व्यापार...Editor

प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल की ओर से आज हिमालय संरक्षण जागरुकता अभियान के तहत रैली निकली जाएगी। मुख्यमंत्री आवास से रैली का शुभारंभ जाएगा, जिसका समापन कुमाऊं के रानीखेत में होगा। इस दौरान चार दिन तक सभाएं कर व्यापारियों को हिमालय संरक्षण को लेकर जागरूक किया जाएगा।

बुधवार को तहसील चौक स्थित प्रतिष्ठान में पत्रकार वार्ता में प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल के प्रदेश अध्यक्ष अनिल गोयल ने कहा कि वर्ष 2015 से हर तीन वर्ष में हिमालय संरक्षण जागरुकता अभियान चलाया जाता है। इस वर्ष भी रैली निकाली जाएगी।

जिसमें संगठन और 365 यूनिट्स के साथ व्यापारी, उपभोक्ता हित, पर्यावरण संरक्षण, पहाड़ पर कानून व्यवस्था आदि के बारे में जागरूक करेंगे। गोयल ने बताया कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत हरी झंडी दिखाकर रैली का रवाना करेंगे। इस मौके पर विपिन नागलिया, प्रवीन जैन, सुनील मैसोन, अनुज जैन, मीत अग्रवाल, कमलेश अग्रवाल, बृजलाल, अंकित अग्रवाल, डीडी अरोड़ा आदि मौजूद रहे।

अतिक्रमण की जद में आए व्यापारियों को मिले राहत

प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल के प्रांतीय अध्यक्ष अनिल गोयल ने कहा कि बृहस्पतिवार को रैली के शुभारंभ अवसर पर मुख्यमंत्री से अतिक्रमण की जद में आए व्यापारियों को राहत दिलाने की मांग की जाएगी। काफी संख्या में व्यापारियों को नुकसान हुआ है। ऐसे में सरकार व्यापारियों को अन्य स्थान पर जगह उपलब्ध कराए, जिससे वह रोजगार कर सकें।

ये रहेगा चार दिवसीय रैली का रूट

चार अक्तूबर - देहरादून से विकासनगर, नौगांव होते हुए बड़कोट

पांच अक्तूबर - बड़कोट से उत्तरकाशी धरासू, चिन्यालीसौर, चंबा होते हुए नई टिहरी

छह अक्तूबर - नई टिहरी, दुगड्डा, देवप्रयाग, श्रीनगर होते हुए रुद्रप्रयाग

सात अक्तूबर - रुद्रप्रयाग, कर्णप्रयाग, गैरसैंण, चौखुटिया, द्वाराहाट होते हुए रानीखेत में समापन

अभियान के दौरान इन बातों पर रहेगा फोकस

- पहाड़ को पॉलिथीन मुक्त करने की दिशा में जागरुकता व पहल

- अपने-अपने क्षेत्रों में योजना बनाकर पौधरोपण व स्वच्छता अभियान

- छोटे-छोटे बाजारों में कूड़ा निस्तारण की व्यवस्था व योजना

- पहाड़ी क्षेत्रों की लोकल प्रोडक्ट को संरक्षित करना व बढ़ावा देना

- हिमालय में साहसिक पर्यटनों को विकसित करने के लिए क्षेत्र के युवाओं को प्रेरित करना व पलायन रोकने की योजना पर कार्य

- हिमालयी क्षेत्रों में जल संरक्षण में सहभागिता

- हिमालय की नदियों व ग्लेशियरों में सीधे प्रदूषण को रोकने की मुहिम

- व्यापारियों की लोकल समस्याओं से रूबरू होते हुए उनका समाधान करना

Tags:    
Share it
Top