Home > प्रदेश > उत्तरप्रदेश > प्रदेश की जनता को जातिवाद व परिवारवाद नहीं विकासवाद चाहिए: केशव प्रसाद मौर्य

प्रदेश की जनता को जातिवाद व परिवारवाद नहीं विकासवाद चाहिए: केशव प्रसाद मौर्य

प्रदेश की जनता को जातिवाद व परिवारवाद नहीं विकासवाद चाहिए: केशव प्रसाद मौर्य

लखनऊ. भारतीय जनता पार्टी की प...Public Khabar

लखनऊ. भारतीय जनता पार्टी की परिवर्तन जनसभा के जनकुम्भ में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जनता का अभिवादन कर कहा कि भ्रष्टाचार के विरूद्ध ईमानदारी की लड़ाई में हम जीतेगें। बहराइच के नानपारा रोड़ पर आयोजित परिवर्तन महारैली में मौसम में खराबी के कारण प्रधानमंत्री का हेलीकाप्टर नही उतर सका। उन्होंने सभा को मोबाइल फोन से सम्बोधित करते हुए जनता को आश्वत किया कि भ्रष्टाचारी तीन चार महीने बाद जेल में होगें, सम्बोधन के दौरान आमजन बेहद उत्साहित दिखे।

प्रदेश अध्यक्ष सांसद केशव प्रसाद मौर्य ने जनता को नमन वन्दन एवं अभिनन्दन कर कहा कि मोदी जी जब से प्रधानमंत्री बने हैं। तभी से उनके दिमाग में सिर्फ एक ही बात की चिन्ता है। कि भारत से गरीबी को कैसे दूर किया जाय। मोदी को अपनी मां वह कष्ट याद था कि कैसे उनकी मां लकडियां जलाकर चूल्हे पर खाना बनाती थी और उनकी आंखों में तकलीफ होती थी। इसलिए उन्होंने उज्ज्वला योजना लागू कर गरीबों के घरों निशुल्क गैस का कनेक्शन पहुॅचाया ताकि किसी मां बहन को वह कष्ट न उठाना पडे जो कष्ट उनकी मां को उठाना पडा।

मौर्य ने स्वास्थ्य बीमा योजना का उल्लेख करते हुए अपने परिवार की व्यथा सुनाते हुए कहा कि जब मेरे पिता जी अस्वस्थ थे तो उपचार के लिए 5 हजार रूपये में खेत गिरवीं रखना पड़ा था। गांवों में गरीबों को उपचार के लिए गहने बेचने पड़ते थे। प्रधानमंत्री ने सभी की कठिनाइयां दूर करने के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना लागू की इलाज के लिए किसी भी किसान को अपने खेत गिरवीं न रखना पडें।

स्वास्थ्य बीमा योजना में प्रधानमंत्री ने 5 सदस्यों वाले परिवार को एक लाख तक की चिकित्सा सुविधा दी है, वह भी बिना किसी भुगतान के 60 वर्षा के आयु के बुर्जुगों के लिए प्रतिबुजुर्ग 30 हजार इलाज की सुविधा दी। किसानों के दुःख दर्द को समझने वाले हमारे प्रधानमंत्री जी ने फसल बीमा योजना लागू की ताकि सूखा, बाढ़ या किसी भी अन्य प्राकृतिक आपदा से फसल नष्ट हो जाय तो हमारे किसान भाईयों को तकलीफ न उठाना पडे़।

मौर्य ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से सवाल किया कि जिन 4 लाख 58 हजार नौकरियों की बात वह कर रहे है। वे बतायें कि उनमें से क्या एक भी नियुक्ति बिना घूस के हुई? उत्तर प्रदेश के युवाओं को ठगने का काम सपा सरकार ने किया है। नौकरियां बेची गई।

Share it
Top