Home > प्रदेश > उत्तरप्रदेश > इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल में वाराणसी कैंट स्टेशन को मिला यह बड़ा सर्टिफिकेशन

इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल में वाराणसी कैंट स्टेशन को मिला यह बड़ा सर्टिफिकेशन

Varanasi, Banaras, Kashi, Railway Station, Northern Raiwlay, IGBC, IGBC Green Railway Stations, Indian Railways, Narendra Modi, Green Railway Stations, Indian Green Building Council, Green Railway Station Rating

वाराणसी. तेलंगाना की राजधानी...Public Khabar

वाराणसी. तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में आयोजित इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल में वाराणसी कैंट स्टेशन को प्लांटेशन और साफ़-सफाई के मानकों के आधार पर ग्रीन सर्टिफिकेशन से नवाजा गया है. काउंसिल इंटरनेशनल लेवल पर ग्रीन बिल्डिंग्स का सर्वे कर उन्हें तय मानकों के आधार पर ग्रीन सर्टिफिकेट देती है. इसी के साथ उत्तर प्रदेश में कैंट स्टेशन ग्रीन सर्टिफिकेशन पाने वाला पहला स्टेशन बन गया है. स्टेशन मैनेजमेंट की तरफ से एडीआरएम रवि प्रकाश चतुर्वेदी ने इस सर्टिफिकेशन को रिसीव किया. उन्होंने इसे गौरवशाली क्षण बताते हुए स्टेशन निदेशक आनंद मोहन व सभी रेल अधिकारियों व कर्मचारियों के संयुक्त प्रयास का नतीजा बताते हुए सभी के प्रयासों की सराहना की.




इस मौके स्टेशन निदेशक आंनद मोहन ने बनारस कैंट को ये सम्मान पाने वाला प्रदेश का पहला स्टेशन बताते हुए अपने साथियों को बधाई दी. इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल का आयोजन 31 अक्टूबर से 3 नवंबर तक शहरी विकास मंत्रालय और सीआईआई के तत्वाधान में किया गया है. वाराणसी कैंट रेलवे स्‍टेशन पीएम नरेंद्र मोदी के प्रयासों से काफी मॉडर्न होता जा रहा है. यहां प्‍लेटफार्म नम्बर एक से लेकर नौ तक के सभी प्‍लेटफार्मों को मॉडर्न कलेवर देने का कार्य जारी है.

भारत में इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल इस दिशा में अग्रणी भूमिका निभाती है. यह काउंसिल लीडरशिप इन एनर्जी एंड एनवायरनमेंटल डिजाइन सर्टिफिकेट यानि एलईईडी में अहम भूमिका निभाती है. इंडियन ग्रीन काउंसिल का यूएस ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल के साथ गठजोड़ है. ग्रीन बिल्डिंग की ओर से की गई बिजली और पानी की बचत के साथ कार्बन क्रेडिट के आधार पर ये रेटिंग तय होती हैं.

Tags:    
Share it
Top