Top
Home > मुख्य समाचार > अपनी आबरू बचाने के लिए मां-बेटी ट्रेन बदलती रहीं और अंत में उठाया खतरनाक कदम...

अपनी आबरू बचाने के लिए मां-बेटी ट्रेन बदलती रहीं और अंत में उठाया खतरनाक कदम...

अपनी आबरू बचाने के लिए मां-बेटी ट्रेन बदलती रहीं और अंत में उठाया खतरनाक कदम...प्रतीकात्मक चित्र

PublicKhabar.com ...Public Khabar

PublicKhabar.com

कानपुर. यूपी में चकती ट्रेनों में महिलाओं की सुरक्षा का अलाम ये है कि जीआरपी रिपोर्ट दर रिपोर्ट दर्ज करती रह जाती है और शोहदे महिलाओं की आबरू के साथ खेलने से बाज नहीं आते. अपनी आबरू बचाने के लिए शनिवार देर रात मां-बेटी ने संग चलती ट्रेन से छलांग लगा दी. हावड़ा से नई दिल्ली जा रही मां-बेटी लहूलुहान हालत में चंदारी स्टेशन पहुंचीं. वहां लोगों ने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी. चकेरी पुलिस ने दोनों को निजी अस्पताल पहुंचाया.
यहां से सुबह दोनों को हैलट लाया गया. घटना की सूचना मिलते ही जीआरपी में हड़कंप मच गया. महिला सिपाही संग जीआरपी पुलिस भी हैलट पहुंच गई. पूछताछ के बाद जीआरपीकर्मी दोनों को अपने साथ ले गए. रेलवे पुलिस ने महिला की शिकायत दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है. नई दिल्ली निवासी एक महिला अपनी 14 वर्षीय बेटी संग बीमार मां को देखने कोलकाता के ओलसोना स्थित मायके गई थी.
गुरुवार को मां की मौत हो गई. इसके बाद मां-बेटी शुक्रवार रात 8 बजे चचेरे भाई नजरू संग हावड़ा से आनंद विहार जा रही डुप्लीकेट कालका एक्सप्रेस (12323) के जनरल कोच में सवार हुईं. घायल महिला के मुताबिक, ट्रेन में सवार चार लड़कों ने शनिवार दोपहर बाद बेटी से छेड़छाड़ शुरू कर दी. मुगलसराय में शिकायत के बाद जीआरपी पहुंची और आरोपियों को उतारा, लेकिन शोहदे ट्रेन चलते ही फिर सवार हो गए. इलाहाबाद में ट्रेन रुकते ही महिला ने जीआरपी में शिकायत की बात कही, लेकिन ट्रेन छूटने की आशंका पर रोक लिया.
इधर, शोहदों ने बदसलूकी और अश्लील फब्तियां कसनी जारी रखीं. फतेहपुर से पहले रसूलाबाद स्टेशन पर ट्रेन के रुकते ही दोनों शोदहों से पीछा छुड़ा समान छोड़ ट्रेन से उतर गईं. दोनों आरपीएफ चौकी पहुंचीं और व्यथा सनाई. सिपाहियों ने दोनों को जीआरपी फतेहपुर पहुंचाया. वहां मां-बेटी ने पुलिस को ट्रेन में सामान छूटने की जानकारी दी. इस पर फतेहपुर जीआरपी ने कानपुर सेंट्रल फोन कर महिला का सामान ट्रेन से उतारने को कहा. जीआरपी ने इलाहाबाद उधमपुर एक्सप्रेस में मां-बेटी को सवार कर कानपुर रवाना कर दिया.
फतेहपुर में शोहदे फिर इसी ट्रेन में मिल गए और उन्होंने अश्लीलता की हदें पार कर दीं. रात दो बजे चारों ने बेटी को दबोच लिया तो आबरू बचाने को चंदारी स्टेशन के पास दोनों चलती ट्रेन से कूद गईं. दोनों के सिर में गंभीर चोटें आयीं. वे किसी तरह चंदारी स्टेशन पहुंचीं. यहां से पुलिस को सूचना दी गई. पुलिस ने दोनों को एक निजी अस्पताल पहुंचाया.
पीके मिश्र, एसपी रेलवे, इलाहाबाद का कहना है कि पीड़ित महिला के बयान के आधार पर शिकायत दर्ज कर ली गई है. पीड़ित महिला के बयान विरोधाभासी होने की वजह से घटना की जांच की जा रही है. महिला के पति को भी मामले की सूचना दी गई है. दोनों ट्रेन के एस्कार्ट में तैनात सिपाहियों से भी पूछताछ की जाएगी. इसके साथ ही फतेहपुर आरपीएफ चौकी से भी मामले को लेकर तत्काल रिपोर्ट मांगी गई है.

Tags:    
Share it
Top