Home > देश > जारी हुआ फ़तेह के खिलाफ फतवा, सर की कीमत 10 लाख

जारी हुआ फ़तेह के खिलाफ फतवा, सर की कीमत 10 लाख

जारी हुआ फ़तेह के खिलाफ फतवा, सर की कीमत 10 लाख

बरेली. तारिक फतेह के बयानों...Public Khabar

बरेली. तारिक फतेह के बयानों और विचारों से खफा एक मुस्लिम संगठन ने उनका सिर कलम करने वाले को 10 लाख रुपये का पुरस्‍कार देने की घोषणा की है।

यह ऐलान टीवी प्रोग्राम के दौरान गैर इस्‍लामी बातों को प्रचारित करने के आरोप में की गई है। ऑल इंडिया फैसान ए मदीना काउंसिल ने एक न्‍यूज चैनल पर आने वाले 'फतह का फतवा' कार्यक्रम पर तुरंत प्रभाव से बैन लगाने की मांग भी की है।

एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के अनुसार, काउंसिल के मोईन सिद्दीकी ने बताया, "तारिक फतह हिंदू और मुसलमानों के बीच सद्भाव को खराब करने की साजिश कर रहे हैं। वह हमारे दुश्‍मनों के एजेंट हैं। उन्‍हें हर कीमत पर रोका जाना चाहिए और हमारा संगठन उनका सिर काटने वाले को 10,00,786 रुपये देगा। उन्‍हें और उनके कार्यक्रम को हमारे देश के विदेशी दुश्‍मनों द्वारा फंड दिया जा रहा है और सरकार को इस पर तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए।" बता दें कि फतह पाकिस्‍तानी मूल के कनाडाई इस्‍लामी विद्वान हैं। वे इस्‍लामिक रूढि़वाद के खिलाफ आवाज उठाते हैं।

ता‍रिक फतह पर पिछले ही दिनों कांग्रेस समर्थक शहजाद पूनावाला ने टीवी शो के दौरान मारपीट करने का आरोप लगाया था। दोनों के बीच काफी कहासुनी भी हुई। शहजाद ने जहां तारिक को पाकिस्तानी एजेंट बता दिया तो वहीं तारिक ने शहजाद को तैमूर की औलाद कह दिया। इसके बाद चर्चा को बीच में बंद करनी पड़ी लेकिन दोनों जाते जाते भी आपस में उलझे रहे। बाद में ट्विटर पर शहजाद ने अपने फोन से बनाई गई वीडियो पोस्ट की जिसमें वो कह रहे हैं कि तारिक ने उनके साथ हाथापाई कि है और वो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।

तारिक फतह से जुड़ा ये मसला हाल ही में दिल्ली में हुए रेख्ता उर्दू साहित्य सम्मेलन से शुरू हुआ। जहां उनका कुछ लोगों ने विरोध किया और उनपर हमला करने के कोशिश की।

तारिक फतह की गीतकार जावेद अख्तर से भी उर्दू को लेकर ट्विटर पर बहस हो गई। तारिक फतह ने अपने एक ट्वीट में उर्दू को सांप्रदायिक और विभाजन की जिम्मेदार बता दिया था। उनका ये कमेंट मशहूर गीतकार जावेद अख्तर को पसंद नहीं आया। जावेद अख्तर ने ट्वीट करके कहा कि संघ और वीएचपी से जुड़े लोग हिंदी बोलते हैं तो क्या हिंदी सांप्रदायिक हो जाएगी।


इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ फतवा जारी करने के एक दिन बाद कोलकाता की टीपू सुल्तान मस्जिद के इमाम ने लाइव चैनल पर तारिक फतह की गर्दन काटने की बात कह दी थी। इमाम मौलाना नूरूर रहमान बरकती जी टीवी के शो में अपने विवादास्पद बयान को लेकर हो रही चर्चा में भाग ले रहे थे यहीं बोलते बोलते पैनल पर अपने साथ मौजूद मशहूर पाकिस्तान मूल के कैनेडियाई लेखक तारिक फतह को गर्दन काटने की धमकी उन्होंने दे डाली।

Tags:    
Share it
Top